اردو | हिन्दी | English
96 Views
लाइफस्टाइल

बच्चों को खाना खाने के लिए है मनाना, तो उनकी थाली ऐसे जरूर सजाना…

fishh_640x480
Written by Taasir Newspaper

केवल खाना बनाना आर्ट नहीं है बल्कि उसे स्टाइल से परोसना भी एक  कला है. कई बार ऐसा होता है कि भले ही हमें भूख ना हो, लेकिन डाइनिंग टेबल पर खाना सजा देख हमारा खाने का मूड बन जाता है. रेस्त्रां या पार्टी में ही नहीं, घर के खाने में भी ये बात जरूर होनी चाहिए. इसके लिए आप एक से बढ़कर एक खूबसूरत बर्तन तो खरीदते ही हैं, थोड़ी बहुत क्रिएटिविटी खाना सर्व करते वक्त भी दिखाई, तो सोने पे सुहागा.

बच्चों के केस में ये सबसे ज्यादा जरूरी है. खासकर उनके लिए जो खाना खाने में नखरे दिखाते हैं. खाने में उनकी रुचि जगानी है तो उनकी थाली कुछ यूं सजाएं-

बच्चों को जंक फूड से जितना लगाव होता है, उतनी ही नफरत वो हरी सब्जियों और फलों से करते हैं तो अगर कुछ इस तरह आप बन में उनकी फेवरेट फ्रेंच फ्राइज के साथ साथ मीट के टुकड़े, फलों की स्लाइस और सब्जियां सजा कर पेश करें और उनके साथ कुछ ऐसा खेल खेलें कि उन्हें इस सांप की पूंछ तक खानी है, तो फिर देखिए वो कैसे पूरी प्लेट साफ कर देते हैं.

कई महिलाएं बच्चों को सैंडविच के बहाने सब्जियां खिलाने की कोशिश करती हैं. इसके लिए उन्हें ना चाहते हुए भी उसमें मेयोनीज या ब्रेड स्प्रेड डालनी ही पड़ती है. जाहिर है इनमें मौजूद प्रिजरवेटिव आपके बच्चे के लिए हेल्दी नहीं हैं. इसलिए अगर बिना मेयो या बटर डाले बच्चे को सैंडविच खिलानी है तो इस तरह सर्व करें.

अगर आप बच्चे की प्लेट में चीज़ें नॉर्मल तरीके से सर्व करेंगे तो शायद वो अपनी फेवरेट चीज भी खाने खाने में नखरे दिखाए, लेकिन अगर आप उन्ही चीज़ों को पैटर्न में सजाएं तो वो उनकी तरफ जरूर आकर्षित होंगे.

किसी का मूड ठीक करने का बेस्ट तरीका है उसे उसका मन पसंद खाना खिलाना. अगर बच्चा किसी बात को लेकर उदास है और आपके लाख समझाने के बाद भी उसका मूड ठीक नहीं हो पा रहा तो उन्हें उनकी फेवरेट फूड खाने को दें. साथ ही उसे रंग बिरंगे अंदाज में सर्व करें, चीज़ों को उनके आकार के हिसाब से प्लेट में कुछ यूं सर्व करें कि वो कोई सीनरी या उनका फेवरेट कार्टून कैरेक्टर जैसा नजर आए.

अगर आपके बच्चे को सैलड खाना बिलकुल पसंद नहीं, और आपको भी कोई दमदार आइडिया नहीं सूझ रहा, तो सबसे बढ़िया तरीका है कि आप अपने बच्चे से ही बोलें कि वो सैलड को अपने हिसाब से डेकोरेट करे. आप उन्हें सारी चीज़ें कट कर के दे दें, या फिर उनसे पूछें कि उन्हें खीरा, टमाटर या फिर कोई भी आइटम किस शेप में चाहिए. इससे तीन काम साथ साथ हो जाएंगे, बच्चे की शेप्स को लेकर समझ विकसित होगी, वो खेल-खेल में इन्हें सीख लेगा. साथ ही अगर वो खुद प्लेट सजाएगा तो उसे खाने के लिए भी उत्साहित होगा. सबसे बड़ी बात ये कि इस तरीके से आपकी आपके बच्चे के साथ बॉन्डिंग मजबूत होगी.

बच्चे का टेस्ट डेवलप करने के लिए जरूरी है कि आप उसे सारे स्वाद चखने का पूरा मौका दें. इसलिए भले ही आपके बच्चे को नमकीन खाना खाना पसंद ना हो, तो भी उसे मीठे पैनकेक की जगह नमकीन पैनकेक सर्व करें. अगर कुछ इस तरह भालू की शक्ल के पैटर्न में उसे सर्व करेंगे तो उसे खाना जरूर चाहेगा. वैसे ये आइडिया आप रोटी के साथ भी अपना सकते हैं.

एडिबल डेकोरेटिव आइटम जैसे जानवर की आंखें, फूल, फर- ऐसी कई चीजें बाजार में मौजूद हैं, या ऑर्डर देने पर उपलब्ध हो सकती हैं. अगर आप बच्चे की पार्टी में भी टेबल खास तरीके से सजाना चाहती हैं और उसके लिए कुछ पैटर्न सोच रखा है तो डेकोरेटिव चीज़ें (जो खाई भी जा सके) उनका ऑर्डर आप किसी बेकरी में पहले भी दे दें.

चॉकलेट पैनकेक को सर्व करने का ऐसा तरीका देखा है कभी! वेल, अगर आप बच्चे के साथ बैठकर वहीं चीज खा रहे हैं, तो कोशिश करें कि आपकी थाली भी वैसी ही सजी हो जैसे आपने बच्चे के लिए तैयार की है. ऐसे करने से आपके बच्चे को अपनापन महसूस होगा.

प्रोटीन बच्चे के आहार का सबसे अहम हिस्सा है. लेकिन अगर आप उन्हें उबला अंडा यूं ही छील कर खाने को दे दें, तो उनकी ना नुकुर तय है. इसलिए उनकी प्लेट में चीज़ों को यूं ही सीधे-सीधे परोसने की बजाय किसी पैटर्न में सर्व करें.

बच्चों को रंग बिरंगी चीज़ें आकर्षित करती हैं इसलिए कोशिश करें कि आप बच्चों का खाना सफेद रंग की प्लेट में सर्व करें. इसमें आप जो भी चीज़ें परोसेंगी उनका रंग निखर कर आएगा.

About the author

Taasir Newspaper