व्यंजन

स्वाद में थोड़ी मीठी-थोड़ी खट्टी, ऐसे बनती है गुजराती कढ़ी

37
Written by Taasir Newspaper

Taasir Urdu News Network | Uploaded on 12-July-2018

कढ़ी का नाम लेते ही मुंह में पानी आ जाता है. ज्यादातर जगहों पर बनने वाली कढ़ी में पकौड़े डाले जाते हैं. इन कढ़ी में चटपटा स्वाद होता है, लेकिन गुजरात की कढ़ी तीखी, चटपटी न होकर हल्की मीठी और पतली होती है. इसमें पकौड़े भी नहीं डाले हैं. गुजराती कढ़ी को कटोरी में डालकर पिया जाता है.

एक नज़र

  • रेसिपी क्विज़ीन : इंडियन
  • कितने लोगों के लिए : 2 – 4
  • समय : 15 से 30 मिनट
  • मील टाइप : वेज

आवश्यक सामग्री

      खट्टा दही 3 कटोरी
      पानी 2 कटोरी
      बेसन 2 बड़े चम्मच
      लहसुन-अदरक का पेस्ट एक छोटा चम्मच
      हरी मिर्च का पेस्ट एक छोटा चम्मच
      साबुत सूखी लाल मिर्च 1
      करी पत्ते 5 से 6
      दालचीनी का एक टुकड़ा
      लौंग 2-3
      मेथी दाना आधा छोटा चम्मच
      राई आधा छोटा चम्मच
      जीरा आधा छोटा चम्मच
      चीनी एक बड़ा चम्मच
      स्वादानुसार नमक
      घी या तेल
      सजावट के लिए
      एक कड़ाही

सजावट के लिए

    बारीक कटी धनियापत्ती

विधि

– एक बर्तन में बेसन को छान लें. अब बर्तन में दही और बेसन डालकर फेंटें व अच्छी तरह मिक्स कर लें. ध्यान रहे दही में बेसन की गुठलियां नहीं पड़नी चाहिए.
– इसके बाद दही-बेसन के मिश्रम में पानी डालकर मिक्स कर लें.
– गैस पर कड़ाही में तेल या घी गर्म करें. फिर इसमें राई, जीरा, मेथी दाना, करी पत्ता और साबुत लाल मिर्च का तड़का लगाएं.

– इसके बाद दालचीनी और लौंग डालकर 30 सेकेंड तक मध्यम आंच पर भूनें.
– फिर हरी मिर्च और लहसुन-अदरक का पेस्ट डालें. इसे 2 मिनट तक और भूनें.
– अब तड़के में बेसन-दही का मिक्सचर डालकर चलाएं. कढ़ी में उबाल आने तक इसे चलाते रहें.

– जब उबाल आ जाए तो आंच धीमी कर दें. अब इसमें नमक और चीनी डालकर 15 से 20 मिनट तक पकाएं.
– कढ़ी अच्छी तरह पक जाए तो गैस बंद कर दें. तैयार है गुजराती कढ़ी.
– धनियापत्ती छिड़कर रोटी और चावल के साथ परोसें व खाएं.

About the author

Taasir Newspaper