ज्ञानेश कुमार और सुखवीर सिंह संधू बने चुनाव आयुक्‍त,

देश को दो नए चुनाव आयुक्‍त मिल गए हैं. ज्ञानेश कुमार और सुखवीर सिंह संधू नए इलेक्‍शन कमिश्‍नर होंगे. चयन समिति ने इनकी नियुक्ति पर अपनी मुहर लगा दी है. विपक्ष के नेता और कांग्रेस के सीनियर लीडर अधीर रंजन चौधरी ने चयन प्रक्रिया पर अपनी असहमति जताई है. इससे पहले गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता में चुनाव आयुक्‍तों के चयन के लिए बनी समिति की बैठक हुई थी. इसमें गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे. बता दें कि चयन समिति में लोकसभा में विपक्ष के नेता भी शामिल होते हैं. निचले सदन में फिलहाल कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता अधीर रंजन चौधरी विपक्ष के नेता हैं. उम्‍मीद जताई जा रही है कि दोनों चुनाव आयुक्‍तों की नियुक्ति को लेकर शाम तक अधिसूचना जारी की जा सकती है. चुनाव आयुक्‍तों के चयन के लिए बनी समिति में शामिल अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कमेटी में सरकार बहुमत में है. मैं कुछ भी कहूं…सरकार जो चाहेगी वही होगा. अधीर रंजन चौधरी ने कहा, ‘कमेटी में सरकार बहुमत में है. मैं कुछ भी कहूं…जो सरकार चाहेगी वही होगा. अरुण गोयल की नियुक्ति के समय सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि उनकी नियुक्ति बिजली गति की तेजी से हुआ. वैसे ही वह चले भी गए. अधीर रंजन चौधरी ने दोनों चयनित चुनाव आयुक्‍तों के नाम को जाहिर करते हुए कहा कि मैंने असहमति का नोट दिया है और चयन प्रक्रिया पर भी सवाल उठाया है. चुनाव आयुक्‍त की नियुक्ति की लिए बनी समिति में शामिल विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्‍होंने चयन प्रक्रिया पर भी सवाल उठाए हैं. कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता ने कहा, ‘मैंने लॉ मिनिस्ट्री से पहले ही शॉर्ट लिस्टेड (चुनाव आयुक्‍त पद के लिए) नाम की सूची मांगी थी, लेकिन नहीं मिली. लिस्‍ट पहले मिल जाती है तो हम जांच-परख कर सकते थे, पर सूची दी ही नहीं गई.’ उन्‍होंने आगे बताया कि जो सूची पहले उन्‍हें सौंपी गई थी, उसमें 212 नाम थे. अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि रात में दिल्ली पहुंचे और दोपहर में पीएम की बैठक के लिए जाना था. ऐसे में 212 लोगों की जांच-परख कैसे करता? चुनाव आयुक्‍त के चयन के लिए बनी समिति ने ज्ञानेश कुमार और सुखविंदर सिंह संधू के नाम पर अपनी मुहर लगा दी है. चयन समिति की बैठक में शामिल रहे लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस बाबत जानकारी दी है. ज्ञानेश कुमार केरल कैडर के वरिष्‍ठ अधिकारी हैं. वहीं, सुखिविंदर सिंह सधू पंजाब कैडर से हैं. बता दें कि अरुण गोयल ने चुनाव आयुक्‍त के पद से इस्‍तीफा दे दिया था. बताया जाता है कि चुनाव आयोग से इस्तीफा दे चुके चुनाव आयुक्त अरुण गोयल की मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार से कई मसलों पर मतभेद थे.