विज्ञान-टेक्नॉलॉजी

Redmi Note 7 गया अंतरिक्ष के ‘सफर’ पर, दिखा कैमरे का दम!

Untitled-11 copy
Written by Taasir Newspaper

Taasir Hindi News Network | Uploaded on 07-May-2019

Xiaomi ने कुछ ऐसा किया है जो हर किसी को चौंका देगा। Xiaomi Redmi Note 7 की मजबूती दिखाने के लिए कंपनी ने फोन को अंतरिक्ष में ही भेज दिया। पहले जब Xiaomi Redmi Note 7 को पेश किया गया था। तब भी Xiaomi ने सोशल मीडिया में कई वीडियो पोस्ट किए थे। इन वीडियो में शाओमी के कर्मचारियों को फोन पर कूदते हुए, हैंडसेट को एक डस्टबीन में डालकर सीढ़ियों पर गिराते हुए और स्मार्टफोन के ऊपर सब्जियों को काटते हुए दिखाया गया। मकसद साफ था, Xiaomi अपने रेडमी नोट 7 हैंडसेट की मजबूती दिखाना चाहती थी। अब कंपनी ने सारी हदें पार कर दी हैं। इस बार Redmi Note 7 को अंतरिक्ष में भेज दिया गया और शाओमी के इस फोन ने 31,000 मीटर की ऊंचाई से पृथ्वी की कुछ तस्वीरें भी ली हैं।

Xiaomi के सीईओ ली जून ने एक वीडियो साझा किया है जिसे Sparrows News द्वारा YouTube पर पब्लिश किया गया है। “Little King Kong” टाइटल वाले इस वीडियो में Redmi Note 7 को एक बैलून की मदद से अंतरिक्ष में भेजकर दिखाया गया है। ऐसा करके कंपनी अपने फोन की मजबूती को दर्शाना चाहती है। संभवतः यह कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 5 की प्रोटेक्शन के कारण हो पाया है। इसके अलावा कंपनी ने Redmi Note 7 के कैमरा की परफॉर्मेंस को भी दर्शाने की कोशिश की। ऐसा ही नहीं है कि अंतरिक्ष में जाने के बाद रेडमी नोट 7 वहीं रह गया। 35,375 मीटर की ऊंचाई पर यह बैलून फट गया। टेस्टिंग के दौरान Redmi Note 7 हैंडसेट ने 9 डिग्री सेल्सियस के आंतरिक तापमान और -56 डिग्री सेल्सियस के वातावरण तापमान को झेला। यह बेहद ही चौंकाने वाला है, क्योंकि इस फोन की कीमत बहुत ज़्यादा नहीं है।

कंपनी ने ट्विटर पर इस स्मार्टफोन द्वारा अंतरिक्ष में ली गई तस्वीरों को भी साझा किया है। गौर करने वाली बात है कि तस्वीरों के वाटरमार्क से साफ है कि अंतरिक्ष से तस्वीरें लेने के लिए 48 मेगापिक्सल के डुअल कैमरा सेटअप को इस्तेमाल किया गया था। यानी कंपनी इस फोन के चीनी वर्ज़न को इस्तेमाल किया था। क्योंकि भारत में Xiaomi Redmi Note 7 डुअल कैमरा सेटअप के साथ तो आता है। लेकिन इसका प्राइमरी सेंसर 12 मेगापिक्सल का है और सेकेंडरी सेंसर 2 मेगापिक्सल का।

About the author

Taasir Newspaper