राजनीति

महाराष्ट्र में बोले PM मोदी- बाबा साहेब का अपमान करने वालों ने सावरकर को भारत रत्न से रखा वंचित

Untitled-24 copy
Written by Taasir Newspaper

Taasir Hindi News Network | Uploaded on 16-Oct-2019  

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र के अकोला जिले में चुनाव प्रचार करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा कि ये वीर सावरकर के ही संस्कार हैं कि राष्ट्रवाद को हमने राष्ट्र निर्माण के मूल में रखा है. ये वो लोग हैं जिन्होंने बाबा साहेब का कदम-कदम पर अपमान किया, उन्हें दशकों तक भारत रत्न से दूर रखा. ये वो लोग हैं जो वीर सावरकर का अपमान करते हैं. उन्हें भारत रत्न से रखा वंचित. रैली में पीएम मोदी ने कहा, ”आप सभी ने हमेशा मुझे और महायुती के साथियों को भरपूर आशीर्वाद दिया है. आज मैं आपके सामने महायुती को फिर से आशीर्वाद देकर पहले से ज्यादा मजबूत सरकार बनाने के लिए, आपके साथ मजबूती से खड़ी रहने वाली सरकार बनाने के लिए, आपसे आशीर्वाद लेने आया हूं.”

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर पीएम मोदी ने रैली में कहा, ”अनुच्छेद 370 हटने से आप सभी खुश हैं, लेकिन उनका चेहरा उतर गया है, उन्हें दर्द हो रहा है. इन्हें एक भारत-श्रेष्ठ भारत नहीं चाहिए. इन्हें बंटा भारत चाहिए, लड़ता हुआ भारत चाहिए. यही इनकी राजनीतिक चालें हैं, जो आज चौपट होती जा रही हैं.”

पीएम मोदी ने कहा, ”महाराष्ट्र का कोई जिला ऐसा नहीं होगा जहां से गए वीर सैनिकों ने जम्मू कश्मीर की शांति के लिए त्याग नहीं किया होगा. महाराष्ट्र के वीर जवान के दिल में यही बात रही होगी कि मैं छत्रपति शिवाजी महाराज की धरती से आया हूं, मैं देश पर आंच भी नहीं आने दूंगा. मुझे गर्व है उन वीर जवानों पर जिन्होंने जम्मू कश्मीर के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दे दिया, और कुछ लोग कहते हैं कि महाराष्ट्र के लोगों का जम्मू-कश्मीर से क्या लेना देना. अरे शर्म करो अपने बयानों पर.”

रैली में प्रधानमंत्री ने कहा, ”याद कीजिये एक समय था जब आए दिन यहां बम धमाके होते थे, मुंबई दहल जाता था. उस समय जो बम धमाके हुए उनके जो मास्टरमाइंड सामने आए वो बचकर निकल गए, दुश्मन देशों में बसेरा बना लिया. आज उन लोगों से ये देश पूछता है कि इतने बड़े गुनाहगार कैसे बचकर निकल गए.”

उन्होंने कहा, ”5 वर्ष पहले तक यहां सिंचाई और पानी के नाम पर क्या क्या खेल होते थे, उनसे आप अच्छी तरह वाकिफ हैं. कांग्रेस और राष्ट्रवादी (NCP) की भ्रष्टवादी युति ने महाराष्ट्र को दशकों पीछे धकेल दिया था. बैराज बनाने का काम हुआ हो, जलयुक्त शिवार हो, पूरी निष्ठा के साथ इस क्षेत्र का विकास हुआ है. अकोला के लोगों ने मोरना नदी को साफ करनी की जो मुहिन चलाई है वो प्रसंशनीय है. पानी और बिजली किसी भी क्षेत्र के विकास के लिए एक बुनियादी शर्त होती है.”

पीएम मोदी ने कहा, ”इनके बिना न घर चल सकता है, न खेती चल सकती है और न उद्योग चल सकते हैं. मुझे तो बताया गया है कि 2014 से पहले तक यहां 18-18 घंटे की लोडशेडिंग होती थी. ऐसे में किसान भी परेशान था और व्यापारी कारोबारी भी असहाय महसूस करता था. पहले विदर्भ के नाम पर पैकेज घोषित होते थे लेकिन यहां तक पहुंचते ही नहीं थे. पहले सरकार जो पैसे भेजती थी वो बिचौलियों के जेब में जमा होते थे. अब केंद्र और महाराष्ट्र सरकार द्वारा किसान को दी गई हर मदद सीधे किसानों के खातों में पहुंच रही है: अकोला सहित पूरे महाराष्ट्र में इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर जो काम हुआ है, उसका सीधा असर यहां के औद्योगीकरण पर हुआ है. यहां के उद्योगों को आने वाले वर्षों में और ऊर्जा देने के लिए हम प्रतिबद्ध है.”

About the author

Taasir Newspaper