बॉलीवुड

Housefull 4 Box Office Collection Day 5: 100 करोड़ के पार हुई Akshay Kumar की ‘हाउसफुल 4’, कमा डाले इतने करोड़

Untitled-8 copy
Written by Taasir Newspaper

Taasir Hindi News Network | Uploaded on 30-Oct-2019 

नई दिल्ली: Housefull 4 Box Office Collection Day 5: बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की फिल्म ‘हाउसफुल 4’ (Housefull 4) ने सिनेमाघरों में तूफान मचा रखा है. फिल्म का धुआंधार प्रदर्शन और शानदार कमाई ने फिल्म को पांच दिनों में ही 100 करोड़ के क्लब में शामिल कर दिया है. बॉक्स ऑफिस इंडिया की वेबसाइट के मुताबिक अक्षय कुमार और बॉबी देओल स्टारर ‘हाउसफुल 4’ (Housefull 4 Box Office Collection) ने बीते दिन करीब 24 करोड़ रुपये की कमाई की. इस लिहाज से फिल्म ने अब तक कुल 111.78 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया है. पांच दिनों में ही ‘हाउसफुल 4’ की यह कमाई हिंदी सिनेमा की बाकी कॉमेडी फिल्मों से काफी ज्यादा है. इस तूफानी कलेक्शन को देखकर कहा जा सकता है कि दिवाली और गोवर्धन पूजा का त्योहार ‘हाउसफुल 4’ के लिए काफी शुभ रहा.

बॉक्स ऑफिस इंडिया की वेबसाइट के अनुसार फिल्म पहले हफ्ते में ही 125 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर सकती है. वैसे तो पूरे भारत में अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की ‘हाउसफुल 4’ (Housefull 4 Box Office Collection Day 5) का प्रदर्शन जबरदस्त रहा है, लेकिन फिल्म ने यूपी, बिहार, राजस्थान, गुजरात जैसे शहरों में दर्शकों पर अपनी छाप छोड़ी है. बीते शुक्रवार धनतेरस के मौके पर रिलीज हुई अक्षय कुमार की फिल्म पहले दिन 19.08 करोड़, दूसरे दिन 18.81, तीसरे दिन 15.33 करोड़ और चौथे दिन 34.56 करोड़ रुपये की कमाई की. लेकिन  कमाई से इतर फिल्म दर्शकों और समीक्षकों का दिल जीतने में कामयाब नहीं हो पाई है.

‘हाउसफुल 4’  (Housefull 4 Box Office Collection Day 5) की कहानी 1419 के सितमगढ़ की है, जहां अक्षय (Akshay Kumar), बॉबी (Bobby Deol), रितेश, कृति, पूजा और कृति (Kriti Sanon) एक दूसरे से प्यार करते हैं, लेकिन कुछ वजहों से ये जुदा हो जाते हैं. छह सौ साल बाद तीनों जोड़े पुनर्जन्म लेते हैं, और इसके बाद फिर शुरू होती है हाउसफुल टाइप कन्फ्यूजन. कपल्स का मिस मैच और एक के बाद एक ढेर सारे कैमियो. कुल मिलाकर हाउसफुल 4 को पहले तीन पार्ट की तर्ज पर ही गढ़ने की कोशिश की गई है. कहानी बेहद कमजोर है. जबरदस्ती के जोक्स ठूंसे गए हैं, और कई जगह तो हंसी भी नहीं आती है. डायलॉग्स बहुत ही फीके हैं.

About the author

Taasir Newspaper