देश

दिल्ली-एनसीआर की ओर फिर लौटी दमघोंटू हवा, गंभीर श्रेणी में पहुंचा AQI

Untitled-1 copy
Written by Taasir Newspaper

Taasir Hindi News Network | Uploaded on 12-Nov-2019 

नई दिल्ली: दिल्ली-एनसीआर की वायु गुणवत्ता एक बार फिर ‘गंभीर’ श्रेणी में आ गई. खेतों में पराली जलाने में बढ़ोतरी, वायु की गति में कमी और प्रदूषकों के फैलाव में तापमान के चलते बाधा आने के कारण हालात तेजी से बिगड़े हैं. वहीं वायु गुणवत्ता पर निगरानी रखने वाली संस्था ‘सफर’ के मुताबिक मंगलवार को राजधानी और आसपास के इलाकों की वायु गुणवत्ता फिर ‘गंभीर’ स्तर पर पहुंच गई है. दिल्ली का AQI सोमवार को शाम चार बजे 360 था, जो रविवार को 321 के मुकाबले अधिक था. वह मंगलवार को आनंद विहार (441) और रोहिणी (440) में गंभीर श्रेणी में दर्ज किया गया. वहीं, जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम और लोधी रोड पर (382) पर बेहद खराब श्रेणी में रहा.

गाजियाबाद (441) और वसुंधरा (455) में भी प्रदूषण का स्तर ‘गंभीर’ श्रेणी में आ गया. ग्रेटर नोएडा और नोएडा में भी इसमें बढ़ोतरी देखने को मिली. सर्दियों की शुरुआत के साथ ही न्यूनतम तापमान में गिरावट से हवा में ठंडक बढ़ गई है और भारीपन आ गया है, जिससे प्रदूषक तत्व जमीन के निकट जमा हो रहे हैं.

बता दें, वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 201-300 के बीच ‘खराब’, 301-400 के बीच ‘अत्यंत खराब’, 401-500 के बीच ‘गंभीर’ और 500 के पार ‘बेहद गंभीर’ माना जाता . भारतीय मौसम विभाग के क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि हवा की गति में कमी आने के चलते प्रदूषण का स्तर बढ़ा है. उन्होंने बताया कि पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने में बढ़ोतरी हुई है, जिसका असर भी दिल्ली-एनसीआर में देखने को मिल रहा है.

About the author

Taasir Newspaper