कर्नाटक

बेबुनियाद आरोप लगाते हैं वकील, अपना सिर कलम करने को तैयार- कर्नाटक हाई कोर्ट के जज का गुस्सा

Taasir Newspaper
Written by Taasir Newspaper

TAASIR HINDI NEWS NETWORK-NIRAJ KUMAR

2 जुलाई  2022,

नई दिल्ली

कर्नाटक हाई कोर्ट के एक वरिष्ठ न्यायाधीश बी. वीरप्पा ने कहा कि अधिवक्ताओं को न्यायाधीशों के खिलाफ झूठे और बेबुनियाद आरोप लगाने से दूर रहना चाहिए। शुक्रवार को सेवानिवृत्त हुए मुख्य न्यायाधीश ऋतुराज अवस्थी के लिए अधिवक्ता संघ बेंगलुरु (एएबी) की ओर से आयोजित एक विदाई समारोह में न्यायमूर्ति वीरप्पा ने कहा कि यदि उन्होंने कुछ गलत किया है तो वह अपना बलिदान देने को तैयार हैं। जस्टिस वीरप्पा ने कहा, ‘अगर मैंने कुछ गलत किया है तो मैं विधानसभा और हाई कोर्ट के बीच खड़ा होकर अपना सिर कलम करने के लिए तैयार हूं।’ न्यायमूर्ति वीरप्पा ने कहा कि न्यायाधीशों के खिलाफ कुछ अधिवक्ताओं की ओर से बेबुनियाद आरोप लगाये जाने से वह परेशान हैं। उन्होंने संघ को सलाह दी कि उसे इस तरह के आरोप लगा रहे अधिवक्ताओं को समझाना चाहिए। उन्होंने कहा कि संघ न्यायाधीशों की गरिमा का संरक्षण करने के लिए जिम्मेदार है। न्यायाधीश ने आगाह किया कि न्यायपालिका गलती करने वाले अधिवक्ताओं के खिलाफ कार्रवाई कर सकता है और इस संबंध में सीमा पार करने पर सुदर्शन चक्र का उपयोग किये जाने की उपमा दी। अपने संबोधन में संघ के प्रमुख विवेक रेड्डी ने कहा कि एएबी इस मुद्दे पर चर्चा करेगा।

About the author

Taasir Newspaper

Taasir Newspaper