बिहार राज्य

बगहा में महात्मा गांधी की जयंती पर बुद्धिजीवी और शिक्षकों ने गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर याद किया

Written by Taasir Newspaper

Taasir Urdu News Network – Syed M Hassan 2nd Oct.

विवार को  राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की जयंती पर नगर के +2 डी एम एकेडमी के प्रांगण में स्थित उनकी प्रतिमा पर स्थानीय बुद्धिजीवियों, शिक्षक ने माल्यार्पण कर देश की आजादी के लिए उनके अतुलनीय योगदान को याद कर उन्हें नमन किया। उपस्थिति शिक्षकों ने कहा कि जब देश ब्रिटिश गुलामी की बेड़ियों से जकड़ा था तब सत्य व अहिंसा के पुजारी महात्मा गाँधी ने देश की आजादी के लिए सत्याग्रह शुरु किया। चम्पारण और बगहा उनके इस सत्याग्रह आंदोलन से जुड़ा रहा। सेवानिवृत्त शिक्षक मो. कयूम अंसारी ने कहा कि वें सादगी के मिसाल थे तथा देश को एक सूत्र में बाँधने का काम किए। घनश्याम प्रसाद ‘कबीर’ ने कहा कि राष्ट्रपिता की उपाधि उनके कीर्तिमान को परिलक्षित करता है। उनके सिद्धांत हमारे लिए अनुकरणीय हैं। स्थानीय शिक्षक ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव काल में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की जयंती एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती मनाना देशवासियों के लिए ऊर्जा का स्रोत है। आजादी के लिए उनलोगों का योगदान कभी चुकाया नही जा सकता। देश उनका सदैव ऋणी रहेगा। आंदोलन के दौरान बापू इस विद्यालय में आए और स्नान किए उनकी याद में स्मृति कूप संरक्षित है। इसे संरक्षित कर ऐतिहासिक रुप से प्रसिद्धि मिलनी चाहिए। वहीं शिक्षक नेता तिरेंद्र राम ने कहा कि उनके आह्वान पर देश एकजुटता के साथ आजादी की लड़ाई में समर्पित हुआ। सत्याग्रह आंदोलन, दांडी मार्च, असहयोग आंदोलन आदि ने देश की गुलामी तोड़ने का काम किया। शिक्षक अविनाश कुमार, दीपक राही, हारून अंसारी, मुकेश यादव आदि ने गाँधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर नमन किया।

About the author

Taasir Newspaper