देश

ऑस्ट्रेलियाई महिला का हत्यारा 4 साल बाद गिरफ्तार, दिल्ली पुलिस ने धर दबोचा,

Written by Taasir Newspaper

TAASIR HINDI NEWS NETWORK-NIRAJ KUMAR

25 नवम्बर 2022,

नई दिल्ली

ऑस्ट्रेलिया में चार साल पहले एक महिला की हत्या करने वाले आरोपी को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में साल 2018 में एक ऑस्ट्रेलियाई महिला का मर्डर कर दिया गया था. हत्या के बाद इस घटना का आरोपी भागकर भारत आ गया था. आरोपी का नाम राजविंदर सिंह है, जिसपर हाल ही में ऑस्ट्रेलिया पुलिस ने 10 लाख डॉलर (5.5 करोड़ रुपए) का इनाम घोषित किया था. ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने मार्च 2021 में भारत से सिंह के प्रत्यर्पण के लिए अपील की थी. इस साल नवंबर में भारत द्वारा इस अपील को मंजूरी दी गई थी.क्वींसलैंड में चार साल पहले (21 अक्टूबर 2018 में) एक समुद्र तट पर 24 साल की ऑस्ट्रेलियाई महिला टोया कॉर्डिंगली की हत्या कर दी गई थी. यह घटना उस दौरान घटी जब कॉर्डिंगली क्वींसलैंड के वांगेटी बीच पर अपने कुत्ते को टहला रही थी. आरोपी राजविंदर सिंह महिला की हत्या करने का बाद ऑस्ट्रेलिया से भागकर भारत आ गया था. सिंह इनफिसल टाउन में रहता था, जहां उसने नर्सिंग असिस्टेंट के तौर पर काम किया था. हालांकि वो मूल रूप से पंजाब के बुत्तर कलां के रहने वाला हैं.क्वींसलैंड पुलिस ने एक बयान में बताया था कि इनिसफेल में कार्यरत 38 वर्षीय राजविंदर सिंह इस हत्या के मामले में मुख्य संदिग्ध है. वो कॉर्डिंगली की हत्या करने के दो दिन बाद देश से फरार हो गया और अपनी पत्नी तथा तीन बच्चों को यहीं छोड़ गया. ऑस्ट्रेलियाई पुलिस ने आरोपी को जल्द से जल्द पकड़ने के लिए उसपर 10 लाख ऑस्ट्रेलियाई डॉलर का इनाम रखा था. यह क्वीन्सलैंड पुलिस द्वारा अब तक के सबसे बड़े इनाम की पेशकश थी. इससे पहले, कॉर्डिंगली की मां ने अपनी बेटी को आध्यात्मिक बताया था.उन्होंने कहा था, ‘कॉर्डिंगली बहुत जल्दी दुनिया छोड़ गई. मैं उसके दोस्तों को शादी करते हुए और बच्चों के साथ देख रही हूं. अब सोचती हूं कि उसने अपने जीवन में काफी कुछ मिस कर दिया. उसे अभी बहुत कुछ देखना था.’ क्वींसलैंड के एक पुलिस अधिकारी ने 3 नवंबर को एक बयान में कहा था, ‘हम जानते हैं कि टोया के मर्डर के अगले ही दिन यानी 22 अक्टूबर (2018) को आरोपी सिंह ने ऑस्ट्रेलिया को छोड़ फरार हो गया था. उसने 23 अक्टूबर को सिडनी से भारत के लिए फ्लाइट पकड़ी थी और फिर भारत आ गया था.’

About the author

Taasir Newspaper