हनी ट्रैप में फंसा कर हुई थी बांग्लादेश के सांसद की हत्या

कोलकाता, 24 मई

बांग्लादेश के सांसद अनवारुल अजीम अनार की हत्या मामले की सीआईडी जांच में चौंकाने वाली जानकारी सामने आ रही हैं। अब पश्चिम बंगाल सीआईडी ने हत्या के पीछे हनी ट्रैप की आशंका जताई है।

सीआईडी का दावा है कि हत्या से पहले बांग्लादेश के सांसद को हुश्न के जाल में फंसा कर बुलाया गया था। वहां पहुंचने के बाद उन्हें योजनाबद्ध तरीके से मौत के घाट उतारा गया। हालांकि, इससे पहले सीआईडी ने सांसद की हत्या के पीछे दोस्त का हाथ बताया था। सीआईडी की प्रारंभिक जांच में पता चला है कि अनार को मारने के लिए दोस्त ने पांच करोड़ रुपये की सुपारी दी थी।

गुरुवार शाम पुलिस ने पूछताछ के लिए एक व्यक्ति को हिरासत में लिया। उससे रात भर पूछताछ हुई है। शुक्रवार को सीआईडी सूत्रों ने बताया है कि सांसद को एक महिला न्यू टाउन के एक फ्लैट में प्रलोभन देकर ले गई, जिसके बाद भाड़े के बदमाशों द्वारा उनकी हत्या की गई होगी। हिरासत में लिये गए व्यक्ति ने हत्या के मुख्य आरोपितों में से एक से मुलाकात की थी। यह व्यक्ति बांग्लादेश की अंतरराष्ट्रीय सीमा के करीब पश्चिम बंगाल के एक इलाके का निवासी है। पुलिस अधिकारी ने हिरासत में लिये गए व्यक्ति की पहचान बताए बिना कहा कि जांच में यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि वह व्यक्ति सांसद से क्यों मिला और उन्होंने क्या चर्चा की थी।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार कोलकाता के न्यू टाउन इलाके के जिस फ्लैट में बांग्लादेश के सांसद को आखिरी बार प्रवेश करते देखा गया था, उसे उसके मालिक ने अपने दोस्त को किराये पर दिया था। इस फ्लैट का मालिक उत्पाद शुल्क विभाग का कर्मचारी है। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि अवामी लीग के सांसद अनार की हत्या के लिए उनके दोस्त ने करीब पांच करोड़ की सुपारी दी थी। जिसका कोलकाता में एक फ्लैट है और वह संभवत: अमेरिका में है। पुलिस के मुताबिक, “जांच से संकेत मिला कि बांग्लादेशी सांसद एक महिला द्वारा बिछाए गए हनी ट्रैप में फंस गए, जो सांसद के दोस्त की भी करीबी थी। इसके बाद ही उन्हें मौत के घाट उतारा गया है।”